मेरी माँ

अपने आंचल में मुझको छुपाकर रखने बाली
दुनिया की नजरों से मुझको बचाकर रखने वाली
तू भगवान है मेरे लिए
मुझे यह दुनिया दिखाने वाली
तुझे भगवान कहूं ,तुझे अल्लाह कहूं
मुझे इस धरती पर लाने वाली
तू सबको प्यार समान दे
इस संसार को आगे बढ़ाने वाली
काश तेरी गोद में रहूं सदा
मुझे फूल से कली बनाने वाली
तू ना जाने कहां खो गई है,
यह रंग बिरंगी दुनिया सजाने वाली
तुम बिन यह दुनिया सुनी लगती है
मुझ पर खुशियां बरसाने वाली
काश मैं तुझे रोक सकता
मुझे अकेला छोड़कर जाने वाली
मां मुझे ले चल अपने साथ
हमेशा के लिए मुझ से दूर जाने वाली
तुम बिन ना रह सकेगा अकेला “दीपक”
मेरे हर दर्द पर आंसू बहाने वाली

कवि- दीपक कोहली (9690324907)

936 total views, 9 views today

Leave a Reply