भारतीय सैनिक

पांव आगे को बढ़ाता ,

जीत के डंके बजाता,

देश पर इतरा रहा है,

वीर सैनिक आ रहा है !

सोहती बंदूक सुंदर,

दिल है कितना मनोहर,

शत्रु को दहला रहा है,

वीर सैनिक आ रहा है!

पर्वतों को फागता है ,

मोर्चा को लांगता है ,

दिशाएं थर्रा रहा है,

वीर सैनिक आ रहा है !

देश सेवा भाव मन में ,

वीरता तन-मन-नयन में,

मंजिलों को पा रहा है,

वीर सैनिक आ रहा है!

 

कवि:- दीपक कोहली

9690324907

686 total views, 6 views today

Leave a Reply