अलंकार

अलंकार

अलंकारों के भेद उदाहरण व तर्क सहित

छात्र :- छुटकी लाल गुप्ता 6 बी

1. अनुप्रास अलंकार :- 

उदाहरण :-

लैला तुझे लूट लेगी तू लिख के ले ले

उपर्युक्त वाक्य में ल की आवृत्ति बार बार हुई है।

2. मानवीकरण अलंकार :-

 

उदाहरण :-

कलियों जैसा हुस्न जो पाया,

हर अदा में नूर है आया।

उपर्युक्त वाक्य में मानव को प्रकृति से जोड़ा गया है।

3. रूपक अलंकार :-

उदाहरण :-

ये चांद सा रोशन चेहरा

बालों का रंग सुनहरा।

उपर्युक्त वाक्य में चांद की तुलना चेहरे से की गई है।

4. अतिश्योक्ति अलंकार :-

उदाहरण :-

सुनो न संगमरमर की ये मीनारें

कुछ भी नहीं है आगे तुम्हारे।

उपर्युक्त वाक्य में बढ़ा चढ़ाकर बोला गया है कि चरम सीमा का उलंघन हो जाये।

5. श्लेष अलंकार :- 

उदाहरण :-

मोहब्बत बरसा देना तू

सावन आया है।

उपर्युक्त वाकय में सावन के दो अर्थ है – एक मौसम दूसरा खुशहारी।

6. यमक अलंकार :-

उदाहरण :-

सजना है मुझे सजना के लिए

उपर्युक्त वाक्य में सजना की दो बार आवृत्ति हुई है।

जबकि अर्थ भिन्न हैं, एक पति और दूसरा मेकअप।

लेखक :- जयवीर सिंह (प्रवक्ता हिंदी)

 

 

2,017 total views, 17 views today

Leave a Reply