सत

अगर आप ने इसे पढ़कर शेयर नहीं किया तो आपका फेसबुक व्हाट्सएप पर रहना बेकार है !
————————————————————-
मोहल्ले में रहने वाली दो लडकियों मीना और
सोनाली की शादी एक ही दिन तय हुई, मीना गरीब
घर की लड़की थी उसके पिताजी एक छोटे किसान थे,
जबकि सोनाली अमीर घराने की लड़की थी उसके
पिताजी का कारोबार कई शहरो में फैला था!
शादी वाले दिन मै भी पडोसी होने के नाते काम में
हाथ बटाने सोनाली के घर गया, घर पंहुचा ही था की
सोनाली के पिता जी लगे अपने रहीसी बताने
वो बोले हमारा होने वाला दामाद सरकारी डॉक्टर
है, खानदानी अमीर है पर हम भी कहा कम है
२० लाख नकद एक कार और सब सामान दे रहे है दहेज़ में !
मैंने कहा ताऊ जी जब वो इतने अमीर है तो आप ये सब
उन्हें क्यों दे रहे हो उनके पास तो ये सब पहले से
होगा ही, वो बोले अगर ना दू तो बिरादरी मे नाक
कट जाएगी पर तू ये सब नहीं समझेगा तू अभी छोटा है,
खैर शाम को बारात आ गई मै खाना खाने के बाद
मीना के घर की तरफ जाने लगा आखिर
उसकी भी तो शादी है ! उसके घर के बहार भीड़
लगी थी मगर ना कोई गाना, ना कोई डांस,
ना किसी के चेहरे पर मुस्कान, घर के और करीब जाने पर
चीख-पुकार का करुण रुदन मेरे कानो को सुनाई दिया,
किसी अनहोनी की आशंका से मेरे दिल जोरो से धडकने
लगा, घर के अन्दर का द्रश्य देखकर मेरे पैरो के नीचे से
जमीन निकल गई!
मीना के पिताजी अब इस दुनिया में नहीं थे! वो दहेज़
में दी जाने वाली रकम का इन्तेजाम नहीं कर पाए
इसलिए लड़के वालो ने शादी से मना कर दिया, ये
सदमा वो बर्दास्त नहीं कर पाए और हिर्दय गति रुकने से
उनका देहांत हो गया !
ये दुःख की खबर सुनाने मै अपने घर पहुंचा,
अपनी माता जी से ये सब बता ही रहा था इतने में बड़े
भाई ने पीछे से आकर बताया के मीना ने
भी फासी लगाकर आत्महत्या कर ली है, वो अपने
पिताजी की मौत का कारण खुद को समझ
बैठी थी इसलिए शायद उसने यही ठीक समझा!!
दोस्तों दहेज़ प्रथा एक अभिशाप है, ना जाने
कितनी मौते इस दहेज़ प्रथा के कारण
होती है!
आप सब से आपके मित्र की विनती है, दहेज़ ना ले, और
ना दे !
आपका एक शेयर किसी की जिन्दगी बचा सकता है !!

999 total views, 3 views today

डायनासोर का अंत और मानवों की उत्पत्ति

डायनासोर का अंत और मानवों की उत्पत्ति

आज से लगभग 6.5 करोड़ साल पहले एक बहुत बड़ी धुमकेतू के पृथ्वी पर गिरने से डायनासोर के सम्पूर्ण प्रजातियों का विनाश हो गया।

एक बहुत बड़े उल्कापिंड पृथ्वी से टकराया यह विस्फोट इतना शक्तिशाल था कि पृथ्वी से लाखों किल्लो टन धुल अंतरिक्ष में चला गया इस प्रकार से पृथ्वी के आकाश में कई दिनों तक धुल के बादल बन गए जिसकी वजह से पृथ्वी पर धुप आना नामुमकिन था।
प्रकाश नहीं आने के कारण करीब 75% पेड़ पौधे, जीव जंतु विनाश हो गए।

और टक्कर के बाद समंदर में सुनामी आने लगी और सभी तरफ तबाही शुरू हो गई इस विस्फोट में समुंदर का बहुत सारे जल बाप बन गया इस गर्मी के कारण जमीन पर रहने वाले सभी बड़े बड़े पेड़ पौधे, जीव जंतु जल गए। इस तरह डायनासोर का अंत हो गया।

सौभाग्य उस समय जमीन के अंदर बिलों में रहने वाले हमारे पूर्वज स्तनधारी जीव बच गए।
उस समय स्तनधारी जिव डायनासोरस से डर की वजह से ज़मीन में छुपकर रहते थे।
और इनकी यही खासियत इनके लिए वरदान साबित हुई जब यह जिव आराम से अपना जीवन धरती के अंदर बिता रहे थे।
हमारे पुर्वज चूहों जैसे दिखने वाले आज हम इन्हें मेमल्स कहते हैं।

मेमल्स जिनको हम अपने पूर्वज मानते हैं।
जमीन के नीचे छिपने के कारण जिंदा रहे लाखों साल बितने के बाद पृथ्वी के वातावरण धीरे धीरे समान्य हुए।इस समय पृथ्वी पर बड़े बड़े पेड़ पौधे विकसित होने लगे
और मेमल्स को प्रयाप्त मात्रा में भोजन मिलने लगा
जिसके कारण 6 करोड़ साल पहले हमारे पूर्वज धीरे धीरे बढ़ने लगे इस समय पृथ्वी पर मेमल्स का वर्चस्व था।

लगभग 5.6 करोड़ साल पहले वातावरण और समय बितने के साथ साथ हमारे पूर्वजों में बदलाव होते चले गए।
पहले से ज्यादा बड़े और फुर्तीले हो गए, तथा प्रयाप्त मात्रा में पेड़ों पर भोजन मिलने के कारण हमारे पूर्वज पेड़ों पर रहने लगे।

पेड़ों पर रहने के कारण उनमें बदलाव होने लगे
मेमल्स के शरीर पहले से ज्यादा लम्बा हो गया।
हाथ और पैर बढ़ने लगा इस समय हमारे पूर्वज बंदरों जैसे दिखाई देने लगे।

लगभग 5.5 करोड़ साल पहले पृथ्वी के मौसम में फिर से बदलाव होने लगे तापमान बढ़ने के कारण पेड़ों की संख्या कम होने लगा। पेड़ों पर भोजन की कमी होने के कारण
मेमल्स को पेड़ों पर भोजन मिलने में कठिनाई होने लगे।

लगभग 4.2 करोड़ साल पहले हमारे पूर्वज ने पेड़ों से नीचे उतर कर भोजन की तलाश करने लगे और जमीन पर भोजन की तलाश में एक स्थान से दूसरे स्थान पर जाने लगे।

इसी दौरान हम दो पैरों पर चलने शुरू कर दिये अगले लाखों सालों तक हमारे शरीर में बदलाव होते चले गए।
हम पहले से ज्यादा स्ट्रोंग और फास्ट चलने लगे लगभग 3.2 मिलियन साल पहले Australopithecos का विकास हुआ।
Australopithecos पूरी तरह से दोनों पैरों पर चलते थे। समय के साथ साथ इनके शरीर में बदलाव होते चले गए।

लगभग 2.3 मिलियन साल पहले Homohabilis का विकास हुआ इनको हाइवीमैन भी बोलते हैं।
इनके सिर बहुत बड़े और शरीर भारी हुआ करता था।
Homohabilis प्रजातियों ने दुनिया में सबसे पहले पत्थरों को औजार के रूप में इस्तेमाल किया।
लाखों सालों में हमारे शरीर में बदलाव होते गए और लगभग 1.8 मिलियन साल पहले Homoeractus का विकास हुआ।

Homoeractus अपनी प्रजाति के दुसरे सदस्यों के साथ रहते थे और शिकार करते थे।
जंगल में लगी आग के कारण आग की शक्ति का पता लगा और उन्होंने आग का इस्तेमाल करना शुरू कर दिया।
Homoeractus कच्चे मांस को पका कर खाने लगे, लगभग 20 लाख साल पहले Homoeractus ने एक दूसरे से वार्तालाप करना सीख लिया था।

लगभग 2 लाख साल पहले इस समय हमारा शरीर Homosapien में बदल चुका था।
इसी समय हम पृथ्वी में सबसे ज्यादा समझदार प्राणी थे और पृथ्वी पर बहुत से जगहों पर रहने लगे।

80 हजार साल पहले हम जंगलों में समुह बना कर रहने लगे।
और लगभग 15 हजार साल पहले मनुष्य जीवन की उत्क्रांति होने लगी इस समय मनुष्य भाषा का प्रयोग, खेती के शुरूआत करने लगे।

541 total views, 5 views today

रामायण को एक वाल्मीकि की चुनौती

रामायण को एक वाल्मीकि की चुनौती
सिद्ध करो राम था….
या स्विकार करो कि रामायण काल्पनिक ग्रंथ है……

एक समय पर दो तरह के इंसान कैसे हो सकते हैं?
एक पूंछ वाला और एक बिना पूंछ वाला दोनों मनुष्य की तरह बोलते हैं दोनों के पिता राजा हैं क्या ऐसा संभव है??

मेंढक से मंदोदरी कैसे बन सकती हैं/ पैदा हो सकती है??
लंगोटी का दाग छुड़ाने से अंगद कैसे पैदा हो सकता है??
पक्षी मनुष्य की तरह कैसे काम कर सकता है जैसे गिद्धराज??
किसी मनुष्य के 10 सिर हो ही नहीं सकते इतिहास या पुरातत्व द्वारा आज तक ये सिद्ध नहीं हो पाया कि किसी इंसान के 10 सिर 20 भुजाओं वाला कोई संतान नहीं है…….

जिस लंका की आप बात कर रहे हो वह लंका 1972 में की लंका नाम पड़ा इसके पहले सिलोन से पहले सिहाली इत्यादि नाम थे तो असली लंका कहा है???

घडे से लड़की कैसे पैदा हो सकती है?
एक माह में मकरध्वज कैसे पैदा हुए?
मछली से कोई मनुष्य कैसे पैदा हो सकता है??
एक माह में मकरध्वज पातालपुरी में नौकरी करने लगे क्या ये संभव है?? अगर संभव है तो साबित करो…

5000 साल पुरानी द्रविड़ भाषा को कोई पढ़ नहीं सकता
तो 70000 साल पहले अंगद किस लैंग्वेज भाषा में लिख रहा था??

सम्राट अशोक के काल में अयोध्या का नाम साकेत था
अयोध्या के बाद साकेत और साकेत के बाद अयोध्या नाम कैसे पड़ा??
पुरातत्व विभाग की तरफ से एक भी प्रमाण हो तो बताओ कि राम राज्य था??

सात घोड़ों से सूर्य कैसे चल रहा आप की पुस्तकें कह रही हैं जबकि विज्ञान कह रहा है कि सूर्य चलता ही नहीं है…..
जब राम का राज्याभिषेक हो रहा था तब सूर्य एक महीने के लिए रुक गया था
जबकि सूर्य चलता ही नहीं है अगर सूर्य चलता है तो सिद्ध करो /साबित करो….

सूर्य खाने गए हनुमान की स्पीड और कद क्या था??

बालमीक रामायण कहती है चैत अमावस्या को रावण का वध होता है
तुलसीकृत रामायण कहती है कुमार दशहरा को रावण का वध होता है तो सच क्या है??

सोने की खोज हुए 4000 साल हुए हैं तो 70000 साल पहले सोने की लंका कहां से आई थी??
सोने का महल था या सोने की लंका 6000 साल पूर्व सभी चमड़े का परिधान पहनते थे
तो 70000 साल पूर्व कपड़े राम कहां से पहनते थे??

जब ब्रह्मा के मुख से ब्राह्मण पैदा हुआ तो भारत में ही क्यों पैदा हुआ जबकि ब्रह्मा ने ब्रह्मांड रचाया तो चीन अमेरिका थाईलैंड जापान दक्षिण कोरिया वगैरह वगैरह दुनिया के बाकी देशों में ब्राह्मणों कयो पैदा नहीं हुआ या होता??
👉👉👉👉Suhana Valmike

494 total views, 6 views today